Don’t worry be happy

“Happiness” is a loaded word: It’s loaded with expectations, hope, yearning, confusion…. You get the idea. What makes happiness feel so elusive usually has more to do with how you relate to the concept than with how you really feel. Here are a few simple adjustments that can help you unleash the happiness within yourself.

1. Be present

Awareness is the springboard from which we can appreciate the world around us. Set reminders in your phone throughout the day to pause and check in with yourself. By stepping into a space of curiosity you will discover an increased ability to notice happiness in everyday life.

2. Harness difficulty

As long as you’re alive, challenges will find you. Sometimes you probably even create challenges for yourself—we all do. Instead of getting down on yourself, try thinking of difficult moments as opportunities to ask yourself: How can I be kinder to myself right now?

3. Get connected

Connection is more than an experience—it’s also a skill that we can strengthen with small gestures. Try smiling at a stranger, tell a friend you appreciate them, or tell a loved one how much they mean to you. Create connection in the small moments of life.

4. Turn meaning into action

What in life really matters to you? Is it family, compassion, good friends, the environment? Take these values and turn them into verbs. If you value family, make a plan to put phones aside during dinner. If it’s the environment, consider volunteering with an organization.

5. Find purpose

Getting involved in something outside ourselves has the power to infuse our daily lives with meaning amid the drudgery. Every day, ask yourself these three questions:

1. What do I care about beyond myself?

2. What action can I take today that aligns with this?

3. In the long run, how will my actions affect the world?

Practice and repeat this over time and watch your sense of purpose grow.

Sumit Sethi

9-c

AVM Juhu

DON’T WORRY , BE HAPPY

Life is a game,

Like a ball of truth and pain.

We are the players,

And happiness is our aim.

 

Wherever you go, struggle follows you,

At the moment per severance is the clue.

No matter how many ups and downs on the way,

Stay happy, just the same way.

 

Lets promise not to worry,

And keep ourselves always happy,

So that no pain makes us cranky!!

 

Arushi Srivastava

Class: 5 C

AVM Juhu

Don’t worry be happy

आज की भाग दौङ भरी जिंदगी, ऊपर से काम का प्रेशर हममे में से कई लोगों को तो याद भी होगा कि पिछली बार कब खिलखिला कर हँसे थे। जबकीहँसना हम सभी के लिये अति महत्वपूर्ण है किन्तु हम उसे नजर अंदाज कर देते हैं। मित्रों हँसने से हमारी जिंदगी किस तरह स्वस्थ एवं खुशनुमा होसकती है उसी के बारे में थोङी सी जानकारी शेयर करने की कोशिश कर रही हूँ , पसन्द आए तो हँसियेगा जरूरतो आइये जानते हैं हंसने के पाँच फायदे:1)  हंसने से हद्रय की एक्सरसाइज हो जाती है। रक्त का संचार अच्छीतरह होता है। हँसने पर शरीर से एंडोर्फिन रसायन निकलता है, ये द्रव्य  ह्रदय कोमजबूत बनाता है। हँसने से हार्टअटैक की संभावना कम हो जाती है। 2) एक रिसर्च के अनुसार ऑक्सीजन की उपस्थिती में कैंसर कोशिका और कईप्रकार के हानिकारक बैक्टीरिया एवं वायरस नष्ट हो जाते हैं। ऑक्सीजन हमें हँसने से अधिक मात्रा में मिलती है और  शरीर का प्रतिरक्षातंत्र भी मजबूतहो जाता हैI 3) य़दि सुबह के समय हास्य ध्यान योग किया जाए तो दिन भर प्रसन्नता रहती है। यदि रात में ये योग किया जाये तो नींद अच्छी आती है।हास्य योग से हमारे शरीर में कई प्रकार के हारमोंस का स्राव होता है, जिससे मधुमेह, पीठदर्द एवं तनाव से पीङित व्यक्तियों को लाभ होता है। 4) हँसने सेसकारत्मक ऊर्जा भी बढती है, खुशहाल सुबह से ऑफिस का माहौल भी खुशनुमा होता है। तो दोस्तों, क्यों हम सब दो चार चुटकुले पढ कर या सुनकरअपने दिन की शुरुवात जोरदार हँसी के साथ करें। 5) रोज एक घंटा हँसने से 400 कैलोरी ऊर्जा की खपत होती है, जिससे मोटापा भी काबू में रहता है।आज कल कई हास्य क्लब भी तनाव भरी जिंदगी को हँसी के माध्यम से दूर करने का कार्य कर रहे हैं। दोस्तों प्रकृति भी हमें संदेश देती हैबारिश के बादखिली धूप, खिला हुआ फूल, लहलहाते हरे भरे पेङ अपनी खुशी का एहसास दिलाते हैं। उनकी इसी खुशी को देख कर हम सब का मन भी खुश होता है,उसी तरह जब हम सब खुश एवं स्वस्थ रहेंगे तो अपने आसपास का वातावरण भी खुशनुमा बना सकते हैं। कहते हैं—“Health is above wealth”.सोचिये अगर जरा सी मुस्कान से फोटो अच्छी सकती है तो खुलकर हँसने से जिंदगी की तस्वीर कितनी खूबसूरत हो सकती है। मित्रों जब स्वास्थऔर सामाजिक क्षेत्र में हँसी के अनगिनत

AVM juhu

Vanshika Dosani

Class-8 C

चिन्ता छोडो खुश रहो

एक लडका था। वह हर दौड में अव्व्ल आता था। वह हर बार दो सौ मीटर की दौड मे पह्ला आता। इस बार पांच सौ मीटर की दौड थी। सब उसे बोलते थे कि अगर वह हार गया, या गिर गया, तो फिर उस्का क्या होगा।
ह्सब सुनकर वह बहुत चिन्ता करने लगा। वह चिंता की वजह से र॓स हार गया । तो दोस्तो इस कहानी से
हमे यह सीख मिलती है कि हमे कभी चिन्ता नही करनी चाहिए और सदैव प्रसन्न चाहिए । अगर वह चिंता नही करता तो वह र॓॓स जीत जाता ॥

Janika Shahane

5 A

AVM juhu