brahman lalsa-wander lust

फैलाए पंख एक परिंदे ने और भरी नयी उड़ान घर-गृहस्ती के चौकट से बहार निकला इंसान देखा उसने उसके सामने एक विस्तृत विश्व नवीन अनुभव, अद्भुत सौंदर्य समक्ष-पार्श्व, पता चली उसे नयी संस्कृति, नयी कला, नयी भाषा और प्रारंभ हुआ जीवन का नया...

Read More