Author: principal_rsbavm

अनुभव- जीवन का सबसे बड़ा शिक्षक

पुस्तक से प्राप्त विद्या महत्त्वपूर्ण नहीं कि हमेशा सही हो| वह हमें अनाकर्षित करती है और अधिक समय तक मस्तिष्क में जमता ही नहीं है| जब तक वह किसी दूसरी वस्तु से जुड़ता नहीं है या बदलाव में उसके स्थान पर ज्ञान, जो अनुभव से प्राप्त...

Read More

मिल-बाँटकर रहने में सच्चे सुख की अनुभूति

मिल-बाँटकर जीना श्रेष्ठ है। हमें सब लोगों की सहायता करनी चाहिए और हमें यह उम्मीद नहीं रखनी चाहिए कि हमारे अच्छे कार्यो के बदले  हमें कुछ मिलेगा। मिल-बाँटकर रहने में ही सच्चे सुख की अनुभूति मिल-बाँटकर जीना श्रेष्ठ है। हमें सब...

Read More

अनुभव जीवन का सबसे बड़ा शिक्षक है

ज्ञान दो प्रकार के होते हैं- स्मृति और अनुभव। अनुभव एक ऐसा ज्ञान है जिसका कभी अंत नहीं होता और यह असीमित है। बच्चे से बड़े होने तक अनुभव बढ़ता जाता है और हमारी हर समय सहायता करता है। अनुभव के दो प्रकार होते हैं- यथार्थ और...

Read More

अनुभव जीवन का सबसे अच्छा शिक्षक है

सीखा न जो अनुभव से,सीखा वह कुछ नहीं अनुभव ही सर्वोच्च शिक्षक ,कहा है यह सही।I १।I स्वर्ण के जीवन-मुकुट पर,आभामंडित ज्ञान-शिरोमणि, चमक उसकी अनुभव से ही ,निष्प्रभ उसके रिक्त , उसकी कणी-कणी। जीवन की लता के सुमधुर सुमन , सुगंध उसका...

Read More

मिल बाँटकर रहने में सच्चे सुख की अनुभूति

यह सच कहा गया है की मिल बाँटकर रहने में ही सच्चे सुख की अनुभूति है। दूसरों को खुशी देने से हम स्वयं भी खुश होते हैं और दूसरों को भी खुश कर सकते हैं। निस्वार्थ भाव से हमें दान देना चाहिए। हमें दान करना चाहिए जिससे हमें भी लाभ...

Read More

FROM OUR ARCHIVES

Powered by Intellischools