कहते है सब खुश रहो । चिंता नही करो । कोई भी संकट आये । कोई भी परिस्थति हो । हम उसपर शांति से सोच कर सही उपाय निकाढना ही चिंता को मिटा सकता है ।
परीक्षा में अच्छे अंक ना मिले । कोई दोस्त तो हमें भूल​-बुरा कहा तो चिंता करना या दुखी होने के बजाय हम सकारात्मक याने सही रास्ता दूंढना है । अब मुझे अच्छे अंक मिलने के ज्यादा पढना है । मेरे दोस्त को-बुरा ना कहते, उससे मेर व्यवहार गबदलना ज़रूरी है ।
सही उपाय दूंढना ही चिंता मिटा सकता है । अपने मन को-अपने विचारो को उस तरह से बदलों कि हम​-दुखी टोने के बजाय खुश रहकर-औरो को भी खुश कर सके ।
खुशी हर रोग का उलाज है