हर भारतीय को कहना चाहिए महान है देश मेरा।

बड़े-बड़े शासक जन्मे हैं इस पावन मिट्टी में मुगल ,

मौर्या ,गुप्त ,सिख जैसे कुछ शासक थे भारत के।

कुछ थे दुर्जन कुछ थे सज्जन। कृष्ण देव राय जैसे थे

और बहुत से व्यक्ति सज्जन जो शासन में करते रहे थे

बलिदान बाकी खुश रखे उनके प्रजाजन।

जाति पाति की दीवारें तोड़ी थीं अकबर ने ,

चन्द्रगुप्त ने नंदों से बदला लेकर , स्थापित किया था एक महान राज्य भारत में।

कर्ण -अर्जुन थे महान  वीर , द्रोण ,भीष्ण की वफ़ादारी पर था दुर्योधन को नाज़ ,

बाबर हुमायूँ का था अलग ही अनदाज़।

कुछ शासक पता हैं हम पर बहुतो का नहीं हैं आगाज़। कुछ बुलाते हैं चाणक्य को कुटिल ब्राह्मण परन्तु  वंश की स्थापना के थे वह एक अहम कर्ण। बीरबल और तेनालीरामा की बुद्धि का नहीं था कोई तोड़।

लोग समझते इतिहास पढ़ना है मज़बूरी

पर भविष्य से पहले अतीत का पता होना भी है ज़रूरी

  प्रणव बंसल कक्षा दसवीं AVM JUHU