अनुभव एक ऐसी चीज़  हैं जो कोई भी व्यक्ति के जीवन पर एक घेरा छाप छोड़ती है इसलिए अनुभव को जीवन का सबसे बड़ा शिक्षक माना  जाता हैं। हम पुस्तकों से सीखी हुई शिक्षा भूल  सकते हैं , पर हमारे अनुभव से सीखी शिक्षा कभी नहीं भूल सकते। अनुभव एक ऐसी घटना हैं ,जो एक  बार घाट जाये तो हमारे दिमाग में हमेशा के लिए अपना स्थान बना लेती हैं।  अनुभव हमारे जीवन में हमारा मार्गदर्शन करती हैं। 
अनुभव दो प्रकार के होते हैं ; अच्छे अनुभव और बुरे अनुभव।  बुरे अनुभव में हम सफलता प्राप्त  करने में अपने आप को असमर्थ पाते हैं। बुरे अनुभव से हमें प्रेरणा  मिलती हैं और हम कुशल और परिश्रमी बनकर  सफलता की सीडी ज़रूर चढ़  पाते हैं । बुरा अनुभव हमें सफलता की ओर इसलिए बढ़ाता हैं क्यूंकि हमने जो कोई भी गलतियां अनुभव करी  होती हैं यह हमारा दूसरा मौका होता हैं जिसमे हम पुरानी गलती करने की भूल नहीं करते। अच्छे अनुभव में हम अपनी पहली कोशिश में ही सफलता प्राप्त कर लेते हैं। इससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ता हैं। इस आत्मविश्वास से हम अनेक चीज़ों में सफल हो पाते हैं। अनुभव से हमारे पास हर मुश्किल के लिए उपाय होता हैं और हम मुश्किल परिस्तिति को भी आसानी से पार कर पाते हैं। कभी-कभी मुश्किल या भ्रामक स्तिथि से हमारी परीक्षा ली जाती हैं। अगर हम वैसी परिस्तिति पहले अनुभव कर चुके होते हैं तो हम परीक्षा को आसानी से पार कर पाते हैं। इस कारन के लिए अनुभव हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण होता हैं। 
किसी महान व्यक्ति ने कहा हैं कि परिश्रम का फल मीठा होता हैं। यह बात सच हैं पर यह तभी होता हैं जब हमें उस कार्य में अनुभव होता हैं। अनुभव ही जीवन का अमृत हैं, इसके बिना हमें किसी कार्य में सफलता मिली मुश्किल हैं। इसका एक उद्धरण हैं, जब कोई क्रिकेट का बल्लेबाज़ बल्लेबाज़ी करता  हैं और खेलते हुए वह गिर कर घायल हो जाता हैं  जिसके कारण उसका दाल हार जाता हैं। अगली बार जब वह बल्लेबाज़ी करने के लिए मैदान पर आता हैं तो वह अपने दल को जिता देता हैं। यह जीत अनुभव के कारण ही होती हैं। पिछले मैच से अपनी कमज़ोरियों पर काम करके अपने दाल को जीता देता हैं।

कक्षा दसवीं AVM JUHU