Don’t worry be happy- hindi

चाहे आप एक छात्र, काम करने वाले पेशेवर, एक गृहिणी या एक सेवानिवृत्त व्यक्ति हो – खुशी आप में से हर एक के लिए एक अच्छा जीवन जीने के लिएजरूरी है। यह व्यक्ति के भावनात्मक कल्याण के लिए आवश्यक है। अगर कोई व्यक्ति भावनात्मक रूप से स्वस्थ नहीं होता है तो उसके समग्र स्वास्थ्य मेंजल्द गिरावट देखने को मिल सकती है।

भले ही खुशी बेहद जरूरी है पर दुर्भाग्यवश लोग उन तरीकों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं जिससे वे खुद को खुश रख सकते हैं। वे सब अपने व्यावसायिकजीवन और जिंदगी के अन्य कार्यों में इतने तल्लीन हैं कि वे जीवन में अच्छे क्षणों का आनंद लेना भूल जाते हैं। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं कि तनाव,चिंता और अवसाद के मामले दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे हैं।

खुशी की परिभाषा और पाने के प्रयास अलग-अलग स्थितियों के अनुसार अलग-अलग हो सकते हैं हालांकि इसका एकमात्र उद्देश्य खुश होना है। आप अपनेजीवनयापन के लिए जितनी मेहनत करते हैं अगर उतनी मेहनत अपने लिए ख़ुशी हासिल करने के लिए करेंगे तो आपके जीवन के मायने ही बदल जायेंगे।

 

किसी ने ठीक ही कहा है कि “आपको जीवन में सच्ची खुशी तब मिलेगी जब आपको यह पता चलेगा कि ख़ुशी का उद्देश्य केवल आपको खुश करना है”। सच्चीखुशी अपने भीतर होती है यह दूसरों से नहीं आती है। इस बिंदु पर कई बार जोर दिया गया है लेकिन ज्यादातर लोग इसे अप्रासंगिक मानते हैं। हमें यहसमझने की जरूरत है कि खुशी मूलतः मन की अवस्था है। यह उन चीजों से हासिल नहीं की जा सकती है जिसे हम बाहर देखते हैं। हमारे पास सकारात्मकभावनाओं की सहायता से इस अवस्था को बनाने की शक्ति है जो अच्छे विचारों से प्राप्त की जा सकती पके विचार आपकी वास्तविकता बनाते हैं।

सकारात्मक विचार और सकारात्मक मन जीवन में सकारात्मक चीजों को आकर्षित करते हैं और नकारात्मक विचार नकारात्मक अनुभवों का अहसास करातेहैं। इसलिए खुशी का अनुभव करने का एकमात्र तरीका है कि आप अपने आस-पास सभी के बारे में अच्छा सोचें।

विभिन्न स्थितियों में अति-उत्साहित या उदास होने के बजाए आपको इन सक्रिय भावनाओं जैसे शांति और संतोष को निष्क्रिय करने में परिवर्तन करनाचाहिए। इन भावनाओं को स्वस्थ बनाए रखना भी आसान है।

विभिन्न स्थितियों में अति-उत्साहित या उदास होने के बजाए आपको इन सक्रिय भावनाओं जैसे शांति और संतोष को निष्क्रिय करने में परिवर्तन करनाचाहिए। इन भावनाओं को स्वस्थ बनाए रखना भी आसान है।

नकारात्मक विचारों को मन में पालना और जीवन में कई चीजों के कारण चिंता और तनाव की स्थिति में रहना आसान है। आपको हमेशा अपने आप कोअच्छे समय और सभी अच्छी चीजों के बारे में याद दिलानी चाहिए। यह आपके मूड को नकारात्मक से सकारात्मक अवस्था तक स्थानांतरित करने का एकअच्छा तरीका है। 

Manya Yadav
Vlll th C
Roll no :16

AVM Juhu