अनुभव जीवन का सबसे बड़ा शिक्षक है

‘अनुभव जीवन का  सबसे अच्छा शिक्षक है ‘ यह एक पुरानी कहावत है परन्तु यह एक सच्ची बात है जिस पर मैं अपना विश्वास रखती हूँ। पुस्तक में लिखी हुई विद्या हमें थोड़ी ही देर तक याद रहती है  क्योंकि हमारे हिसाब से वह बहुत ही उबाऊ होती है। परन्तु अगर हम कुछ अनुभव करते तो वह हमें लम्बे समय तक याद रहती है और अगर हम उस अनुभव में कुछ गलती करते हैं तब हम उस गलती को दोहराते नहीं हैं।

पहले तो मैं यह कहना चाहूंगी कि अनुभव एक ऐसी चीज़ है जिससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलता है और इस दौरान हम जो सीखते हैं उससे हम कभी नहीं भूलते क्योंकि हमें पता है कि आपने जो उस अनुभव में महसूस किया वह आपके लिए यादगार है। दूसरी तरफ, अगर आपके माता पिता  दादा दादी या नाना नानी आपको कुछ सिखाते हैं हमें सदैव  के लिए याद रहता है। वह बेकार नहीं जाता है बल्कि वह हमारे दिल में रह जाता है।

दूसरी बात मैं यह कहना चाहूंगी कि अनुभव से जो सीखा जाए, वह बहुत जानकारी से भरा होता है तथा बहुत ही समझने वाली है। इससे हम अपनी गलती को समझकर उसे सुधार देते हैं। जैसे हम गणित पढ़ते हैं और हमें कुछ बहुत मुश्किल लगे हम उसका अभ्यास करते हैं तो हमे वह आसान लगने लगता हैं और परीक्षा में हमें ज़्यादा समय पढ़ना नहीं पड़ता।

अंत में मैं यह कहना चाहूंगी कि, जैसे अगर आप १३ -१४ साल के हैं तो आप ज़्यादा समय अपने दोस्तों के सात बिताएँ और उनके साथ अलग-अलग चीज़े अनुभव करना चाहतें हैं। जब आप यूनिवर्सिटी में होते हों तब आप चाहते हैं कि आप अपना कल यानी भविष्य बेहतर कैसे बनाये। जब आपकी शादी हो जाती हैं तब  आप अपने परिवार के साथ किस तरह पेश आएं यह आपको नहीं  पता पर थोडे दिनों बाद आप मुश्किलें अनुभव करते हैं तब आपको  समझ आता हैं कि आपको अच्छे से  कैसे  पेश आना है।

हमें अनुभव करना चाहिए क्योंकि आप उससे जो सीखते हो, वह बहुत मदद करता है तथा  उससे अपनी गलतियों का भी पता चल जाता है। मुझे पता हैं कि आपका परिवार भी आपको वही चीज़े बताएँगे जो शायद से आप अपने अनुभव से सीखे परन्तु आपको  जलदी  भूल जायेंगे परन्तु   यदि आप वही चीज़ अनुभव करो तब आपको वह चीज़ हमेशा के लिए याद रहती हैं।  

  Sanvi Goyal  9A   

AVM JUHU